33 C
Mumbai
Saturday, February 27, 2021
Home NEWS किसान आंदोलन: गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस को दिए ये निर्देश, किसान...

किसान आंदोलन: गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस को दिए ये निर्देश, किसान संगठनों के चक्का जाम के बारे में जाने सबकुछ

नई दिल्ली: किसानों का आंदोलन दिल्ली की सीमाओं पर पिछले 72 दिनों से जारी है. अब इसका दायरा बढ़ता जा रहा है. शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के शामली और राजस्थान के दौसा में महापंचायत बुलाई गई. इस महापंचायत में भारी भीड़ देखी गई. किसान संगठनों ने शनिवार को चक्का जाम का एलान किया है. किसान नेताओं का कहना है कि सिंघु, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर जरूरी सुविधाएं प्रशासन नहीं पहुंचने दे रहा है. इंटरनेट पर भी रोक है. इसके विरोध में चक्का जाम का एलान किया गया है.

तीन घंटे के लिए चक्का जाम

संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने कहा कि देशभर में दोपहर 12 बजे से तीन बजे तक तीन घंटे के लिए चक्का जाम किया जाएगा. नेशनल और स्टेट हाईवे को इस दौरान जाम किया जाएगा. किसानों के चक्का जाम का कांग्रेस ने समर्थन दिया है.

बयान के मुताबिक, चक्का जाम के दौरान इमरजेंसी और आवश्यक सेवाओं जैसे एम्बुलेंस, स्कूल बस आदि को नहीं रोका जाएगा. संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा कि चक्का जाम पूरी तरह से शांतिपूर्ण और अहिंसक होगा.

तीन बजे हॉर्न बजाएंगे प्रदर्शनकारी

किसान संगठनों के बयान के मुताबिक, 3 बजे से 1 मिनट तक हॉर्न बजाकर किसान एकता का संकेत देंगे. किसान संगठनों ने आम लोगों से भी अपील की है कि वह किसानों का साथ दें और प्रदर्शन में शामिल हों.

दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में नहीं दिखेगा असर

किसान मोर्चा ने कहा है कि दिल्ली में चक्का जाम नहीं  किया जाएगा. वहीं गाजीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन का नेतृत्व कर रहे भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैता ने कहा है कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जनहित में चक्का जाम नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि कुछ लोग हिंसा फैलाने की योजना में हैं. हमारे पास इसकी पक्की रिपोर्ट है.

पुलिस अलर्ट पर

किसानों के चक्का जाम की योजना के मद्देनजर दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा पुलिस अलर्ट पर है. केंद्र ने दिल्ली पुलिस को राष्ट्रीय राजधानी में सभी प्रमुख प्रतिष्ठानों की कड़ी सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है. ताकि 26 जनवरी की लाल किले जैसी कोई घटना नहीं हो. सूत्रों ने यह जानकारी दी.

सूत्रों ने बताया कि दिल्ली पुलिस को न्यूनतम बल प्रयोग करने का निर्देश दिया गया है, लेकिन यह भी कहा गया है कि सुरक्षाकर्मियों के लिए खतरा बनने वाले लोगों से सख्ती से निपटा जाए.

आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि ये निर्देश केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में जारी किये गये. बृहस्पतिवार को हुई इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, दिल्ली पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवस्तव सहित अन्य शामिल हुए.

दिल्ली पुलिस उत्तर प्रदेश और हरियाणा पुलिस के साथ भी संपर्क में है ताकि यह सुनिश्चित किय जा सके कि चक्का जाम के दौरान हिंसा की कोई घटना ना हो और आम आदमी को कम से कम असुविधा हो.

नरेन्द्र तोमर के ‘खून की खेती’ वाले बयान पर बवाल, राज्यसभा की कार्यवाही से हटाया गया

Source link

Most Popular

EnglishGujaratiHindiMarathiUrdu