33 C
Mumbai
Monday, April 19, 2021
Home NEWS दिल्ली में बढ़ रहा कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा, कोविड शवों...

दिल्ली में बढ़ रहा कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा, कोविड शवों के लिए रिजर्व की जा रही चिताएं

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना के पॉजिटिव मामलों के साथ ही मौत का आंकड़ा भी बढ़ रहा है. अकेले अप्रैल के महीने में महज 7 दिन में 100 से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना वायरस के कारण हो चुकी है. वहीं कोरोना से होने वाली मौत के शवों के अंतिम संस्कार के प्रबंधन में कोई अव्यवस्था न फैले, इसके लिए नगर निगमों ने भी तैयारी शुरू कर दी है. जिसके तहत तीनों नगर निगमों के अंर्तगत आने वाले श्मशान घाटों पर कोरोना के शवों के दाह संस्कार के लिए चिताएं रिजर्व कर दी गई हैं.

उत्तरी दिल्ली नगर निगम

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत आने वाला निगम बोध श्मशान घाट दिल्ली के सबसे बड़े घाटों में से एक है. उत्तरी दिल्ली नगर निगम के मेयर जय प्रकाश के मुताबिक निगम बोध घाट में आग से दाह संस्कार के लिए कुल 120 प्लेटफॉर्म हैं. जिनमें से 20 प्लेटफॉर्म कोविड शवों के लिए रिजर्व कर दिए गए हैं. इसके साथ ही CNG से दाह संस्कार वाले 6 प्लेटफॉर्म में से भी 3 प्लेटफॉर्म कोविड शवों के अंतिम संस्कार के लिए रिजर्व किए गए हैं. 1 अप्रैल से लेकर 7 अप्रैल तक यहां 19 कोविड शवों का दाह संस्कार CNG से और 4 शवों का दाह संस्कार लकड़ी से किया जा चुका है.

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के मेयर जय प्रकाश ने निगम के अंतर्गत आने वाले श्मशान घाट और कब्रिस्तान में तैयारियों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि दिल्ली में लगातार कोरोना के केस बढ़ते जा रहे हैं. जिसकी वजह से मौतों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है. सभी कब्रिस्तान और श्मशान घाट पर कोविड प्रोटोकॉल का ख्याल रखा जाए उसके लिए व्यवस्था बना रहे हैं. हमारे सबसे बड़े श्मशान घाट निगम बोध घाट पर 120 प्लेटफॉर्म में से हमने 20 प्लेटफॉर्म कोविड के लिए रिजर्व किए हैं और CNG प्लेटफॉर्म भी अलग से रिजर्व किए हैं. लोगों को किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े और उनके परिजनों का संस्कार ठीक प्रकार से हो इसके लिए नगर निगम लगातार काम कर रहा है. किसी प्रकार की समस्या हो तो उसका फौरन समाधान निकाला जाएगा.

पूर्वी दिल्ली नगर निगम

पूर्वी दिल्ली नगर निगम में भी 3 श्मशान घाटों में कुल 35 चिताएं कोविड शवों के दाह संस्कार के लिए रिजर्व की गई हैं. पूर्वी दिल्ली नगर निगम के मेयर निर्मल जैन के मुताबिक कड़कड़डूमा श्मशान घाट में कुल 10 प्लेटफॉर्म हैं. सभी 10 प्लेटफॉर्म को कोविड के लिए रिजर्व किया गया है. गाजीपुर श्मशान घाट के 38 में से 15 चिताओं को रिजर्व किया गया है. इसके साथ ही सीमापुरी के 26 में से 10 चिताओं को कोविड शवों के संस्कार के लिए रिजर्व किया गया है. इसके साथ ही पूर्वी दिल्ली नगर निगम में आने वाले बुलंद मस्जिद और मुल्ला कॉलोनी कब्रिस्तान में भी कोविड शवों को दफनाने के लिए जगह रिजर्व की गई है.

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत आने वाले श्मशान घाट और कब्रिस्तान में 1 अप्रैल से 7 अप्रैल के बीच 52 संदिग्ध कोविड और कंफर्म कोविड शवों का अंतिम संस्कार किया जा चुका है. दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के नेता सदन नरेंद्र चावला से मिली जानकारी के मुताबिक एसडीएमसी के अंतर्गत आने वाले 6 श्मशान घाटों में अभी कोविड शवों का अंतिम संस्कार किया जा सकता है. इन 6 श्मशान घाटों की कुल क्षमता मिलाकर 265 चिताओं की है. इनमें पंजाबी बाग, हस्तसाल, लोधी रोड, सराय काले खां, लालाकुआं और द्वारका सेक्टर 24 के श्मशान घाट शामिल है. नरेंद्र चावला के मुताबिक जरूरत पड़ने पर अन्य श्मशान घाटों का इस्तेमाल भी कोविड शवों के अंतिम संस्कार के लिए किया जाएगा और इसी के अनुरूप चिताओं को रिजर्व भी किया जाएगा. साथ ही ITO स्तिथ फिरोजशाह कोटला कब्रिस्तान का इस्तेमाल भी कोविड शवों को दफन करने के लिए किया जाएगा.

यह भी पढ़ें:
दिल्ली का पॉश जिला बना कोरोना का एपिसेंटर, अकेले साउथ डिस्ट्रिक्ट में कंटेनमेंट जोन का करीब एक चौथाई हिस्सा

Source link

Most Popular

EnglishGujaratiHindiMarathiUrdu