33 C
Mumbai
Friday, February 26, 2021
Home NEWS प्रियंका गांधी का मोदी सरकार पर तंज, कहा- अच्छे दिनों का तो...

प्रियंका गांधी का मोदी सरकार पर तंज, कहा- अच्छे दिनों का तो पता नहीं लेकिन रसोई गैस के ‘महंगे दिन’ आ गए

नई दिल्ली: महंगाई को लेकर केंद्र सरकार विपक्ष के निशाने पर है. पिछले 10 दिनों में एलपीजी सिलेंडर के दाम में 75 रुपये की बढ़ोतरी हुई है. सोमवार को कांग्रेस ने सरकार को निशाने पर लिया. इस बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि अच्छा दिनों का तो पता नहीं है लेकिन रसोई गैस के महंगे दिन आ गए हैं.

प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा, “अच्छे दिनों का तो पता नहीं लेकिन, रसोई गैस के ‘महंगे दिन’ आ गए.”

इससे पहले कांग्रेस ने रसोई गैस के दाम में 50 रुपये की ताजा बढ़ोतरी को लेकर सोमवार को केंद्र सरकार पर लूट और मुनाफाखोरी का आरोप लगाया और कहा कि जनता को राहत देने के लिए बढ़ी हुई कीमतों को तत्काल वापस लिया जाए. पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क को कम किया जाए. विपक्षी पार्टी ने यह सवाल भी किया कि यूपीए सरकार के समय सिलेंडर लेकर सड़क पर बैठने वाली बीजेपी की महिला नेता अब चुप क्यों हैं?

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘जनता से लूट, सिर्फ़ ‘दो’ का विकास.’’ रसोई गैस कीमतों को लेकर पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने ट्वीट कर कहा, ‘‘अच्छे दिनों का तो पता नहीं लेकिन, रसोई गैस के ‘महंगे दिन’ आ गए.’’ कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सवाल किया कि गैस सिलेंडर के दाम में पिछले दो महीने के भीतर 175 रुपये की बढ़ोतरी की गई है, क्या यही ‘अच्छे दिन’ हैं?

उधर, कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत रसोई गैस के दाम में बढ़ोतरी के विरोध में सोमवार को सिलेंडर के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचीं और सरकार से बढ़ी हुई कीमतें तत्काल वापस लेने की मांग की. सुप्रिया ने कहा, ‘‘पिछले 10 दिनों के भीतर इस सरकार ने रसोई गैस के सिलेंडर में 75 रुपये की बढ़ोतरी की है. चार फरवरी को दाम 25 रुपये बढ़ाए गए थे और अब 50 रुपये बढ़ा दिए गए. यही नहीं, दो महीने के भीतर सिलेंडर की कीमत में 175 रुपये की बढ़ोतरी की जा चुकी है. आज के समय में दिल्ली में एक सिलेंडर 769 रुपये का बिक रहा है।’’

कांग्रेस प्रवक्ता ने दावा किया, ‘‘यूपीए सरकार के समय एक सिलेंडर की कीमत 400 रुपये के करीब थी. उस समय कच्चे तेल की कीमत 100 डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा थी, लेकिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों को नियंत्रित रखा गया था. अब पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें आसमान छू रही हैं. इस सरकार के कुप्रबंधन के कारण देश को महंगाई की मार झेलनी पड़ रही है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह सरकार डीजल पर उत्पाद शुल्क को आठ गुना और पेट्रोल पर ढाई गुना बढ़ा चुकी है. इस सरकार की कृपा है कि देश ने पेट्रोल की कीमत के मामले में शतक लगा दिया है और नया कीर्तिमान गढ़ दिया है. ऐसा लगता है कि इस सरकार को आम आदमी की रत्ती भर फिक्र नहीं है.’’

West Bengal Opinion Poll: टीएमसी या BJP किसकी बनेगी सरकार? जानें- कांग्रेस-लेफ्ट गठबंधन का हाल 



Source link

Most Popular

EnglishGujaratiHindiMarathiUrdu