सुरक्षा चुनौतियों को देखते हुए ट्विटर ने टॉप हैकर पीटर जटको को बनाया नया सिक्योरिटी हेड

सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी ट्विटर ने अपने ऊपर लगातार रेगुलेशन के बढ़ते दबाव और सुरक्षा के गंभीर खतरे को देखते हुए दुनिया के जाने-माने हैकर को इस काम के लिए नियुक्त किया है ताकि वे इन चुनौतियों से निपट सकें. ट्विटर ने सिक्योरिटी हेड के तौर पर पीटर जटको की नियुक्त करते हुए उन्हें इसके स्ट्रक्चर और कार्यशैली में बदलाव की जिम्मेदारी दी है. जटको सीधा ट्विटर के सीईओ जैक डोर्जी को रिपोर्ट करेंगे. ऐसी उम्मीद है कि वे 45से 60 दिनों की समीक्षा के बाद प्रमुख सुरक्षा कार्यों का प्रबंधन अपने हाथों में ले लेंगे.

एक एक्सक्लूसिव बातचीत के दौरान जटको ने कहा कि वह सूचना सुरक्षा, साइट इंटीग्रिटी, फिजिकल सिक्योरिटी, प्लेटफॉर्म सिक्योरिटी की समीक्षा करेंगे.

जटको हाल में इलेक्ट्रोनिक पेमेंट्स यूनिकॉर्न स्ट्राइप की सुरक्षा देख रहे थे. इससे पहले वह गूगल में स्पेशल प्रोजेक्ट पर थे, जहां पर उन्हें पेंटागन के डिफेंस एडवांस्ड रिसर्च एंड प्रोजेक्ट एजेंसी (डीएआरपीए) में साइबर सिक्योरिटी प्रोजेक्ट्स के काम दिए गए थे.

डैन कॉफमैन, जिन्होंने DARPA में जटको को सुपरवाइज किया और अब गूगल में एडवांस्ड प्रोडक्ट्स ग्रुप को लीड कर रहे हैं, उन्होंने कहा- “”मैं नहीं जानता हूं कि कोई ट्विटर की सुरक्षा को कोई दुरुस्त कर पाएगा. लेकिन वह लिस्ट में सबसे टॉप पर होंगे.

गौरतलब है कि ट्विटर लगातार कई सुरक्षा चुनौतियों का सामना किया है. एक साल पहले ही, अमेरिकी सरकार ने सऊदी अरब के लिए दो लोगों पर जासूसी करने का आरोप लगाया था. वे दोनों कई साल पहले ट्विटर में ही काम करते थे. अमेरिकी सरकार ने कहा कि उन दोनों ने किंगडम आलोचकों की प्राइवेट सूचनाओं को भी आगे भेजी थी.

ये भी पढ़ें: अमेरिकी चुनाव को लेकर ट्विटर ने किया खुलासा, 3 लाख ट्वीट को बताया फर्जी  

Source link