33 C
Mumbai
Sunday, April 18, 2021
Home Education Bihar Board 10h Result 2021: जिनका रिजल्ट रह गया है पेंडिंग, वो...

Bihar Board 10h Result 2021: जिनका रिजल्ट रह गया है पेंडिंग, वो क्या करें, जानिए- स्टेप बाइ स्टेप

BSEB Bihar Board 10h Result 2021: बिहार बोर्ड 10वीं का परिणाम जारी हो गया है. नतीजे बिहार बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट biharboardonline.bihar.gov.in पर जारी कर दिए गए हैं. कक्षा 10वीं की परीक्षा देने वाले सभी स्टूडेंट्स अब अपना रिजल्ट ऑफिशियल वेबसाइट से चेक कर सकते हैं. रिजल्ट जारी होने के बाद कई परीक्षार्थी उदास नजर आ रहे हैं. जिसका कारण है उनका रिजल्ट बीएसईबी के वेबसाइट पर पेंडिंग दिखना. ऐसे में उन लोगों को निराश होने की जरूरत नहीं जो कि परीक्षा में बैठे थे, परीक्षा दी थी, लेकिन रिजल्ट पेंडिंग आया है. पेंडिंग रिजल्ट वाले छात्र इन स्टेप्स को अपनाकर कंप्लीट रिजल्ट पा सकते हैं.

कैसे करें अप्लाई

जिन छात्रों का रिजल्ट पेंडिंग दिखा रहा है, वह छात्र बोर्ड से फिर अपील कर सकते हैं. इसके लिए उन्हें अपने स्कूल/कॉलेज में एक आवेदन देना होता है. आवेदन में यह बताना होता है कि हमने फलां विषय का पेपर दिया था, लेकिन इसमें रिजल्ट पेंडिंग है. स्कूल के प्रिंसिपल इस आवेदन को अपने स्तर से वेरिफाई करके बोर्ड को अग्रसारित कर देते हैं. जहां छात्र को कुछ फीस के साथ उस आवेदन की प्रति और एडमिट कार्ड की एक कॉपी देनी होती है.

आवेदन मिलने के बाद बोर्ड विचार करता है और इस संबंध में संबंधित कर्मचारी को निर्देश देता है कि फलां रोल नंबर की कॉपी निकाली जाए. कर्मचारी कॉपी निकालते हैं और उस पर दिए गए मार्क्स को देखते हैं. अगर मार्क्स में कुछ गड़बड़ी होती है तो उसे ठीक करके दोबारा रिजल्ट जारी कर दिया जाता है.

कई बार ऐसा देखने को मिलता है कि परीक्षार्थी पासिंग मार्क्स से थोड़ा पीछे रह जाता है. उस स्थिति में बोर्ड की ओर से ग्रेस मार्क्स देकर छात्र-छात्राओं को पास कर दिया जाता है.

कैसे होती है यह समस्या

बोर्ड की कोशिश होती है कि बच्चों के साथ इस तरह की गड़बड़ी न हो इसके लिए सभी सावधानी बरती जाती है. लेकिन कभी-कभी परीक्षार्थियों की गलती और कर्मचारियों की लापरवाही के कारण ऐसा देखने को मिल जाता है.

ऐसा होने के पीछे के कारण हैं-

  • पहला कारण- अटेंडेंस शीट पर सही से अपना रोल नंबर और रोल कोड न भरना.
  • दूसरा कारण- अटेंडेंस शीट पर सही से कॉपी नंबर न भरना.
  • तीसरा कारण- परीक्षार्थियों ने सबकुछ सही किया हो लेकिन भूलवश परीक्षक सही से नंबर नहीं दे पाया हो.
  • चौथा कारण- परीक्षक नंबर भी सही से दिया हो और जोड़ने के क्रम में कुछ कमी रह गई हो.

परिक्षार्थी उठाएं ये कदम

ऐसे में छात्रों को घबराने की जरूरत नहीं है. परिक्षार्थियों को सीधे अपने प्रिसिंपल से मिलकर इस संबंध में बात करनी चाहिए और बोर्ड का रुख करके वहां आवेदन देकर दोबारा टैबलेटिंग की मांग करनी चाहिए. अक्सर इसका परिणाम पॉजीटिव देखने को मिलता है.

BPSC Project Manager 2021 Prelims Admit Card: बीपीएससी प्रोजेक्ट मैनेजर प्रीलिम्स का एडमिट कार्ड जारी, 11 अप्रैल को है एग्जाम

IAS Success Story: इंजीनियरिंग के बाद यूपीएससी की तैयारी की, नवनीत ने लगातार दो बार पास की परीक्षा और बनीं आईएएस 

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Source link

Most Popular

EnglishGujaratiHindiMarathiUrdu