Health Tips: सूजन की समस्या से पाएं निजात, खाएं ये फायदेमंद विटामिन्स व सप्लीमेंट

 

Health Tips: विटामिन्स और सप्लीमेंट्स, आपके शरीर के लिए बेहद फायदेमंद हैं. ये न सिर्फ आपकी बॉडी को स्ट्रेंथ प्रदान करते हैं बल्कि कई बीमारियों और आपके शरीर में होने वाली कई समस्याओं से लड़ने में आपके सहायक भी होते हैं. ऐसी ही एक परेशानी है सूजन की जो आमतौर पर देखने को मिलती है. शरीर में सूजन होना, सुनने में तो नॉर्मल बात है मगर इसका आपके शरीर पर गहरा असर पड़ता है. कई बार इस परेशानी से निजात पाने के लिए आप बहुत सी दवाइयों या अन्य उपचारों का सहारा लेते हैं लेकिन इसके बावजूद आपको मन चाहे नतीजे नहीं मिल पाते. ऐसे में आपको एक बार उन विटामिन्स या पोषण तत्त्वों को अपनी डाइट में शामिल करके देखना चाहिए जिन की आपके शरीर को सख्त ज़रूरत है. तो आइये जानते हैं किस तरह से सूजन में फायदेमंद हैं विटामिन व सप्लीमेंट.

विटामिन ए

विटामिन ए आपके इम्यून सिस्टम और गार्ड्स को मज़बूत बनाने का काम करता है जिसकी वजह से आप किसी भी प्रकार की इंफेक्शन युक्त बीमारी से बचे रहते हैं. इसलिए हमारी सलाह है कि आप एक से दो हफ्ते तक विटामिन ए कि गोलियों का सेवन करें, इससे आपको ज़रूर ही फायदा पहुंचेगा और आपको अच्छे नतीजे देखने को मिलेंगे. मुख्य तौर से यह मछली, दूध व अंडे आदि में पाया जाता है.

ब्रोमेलिन

ब्रोमेलिन जैसा पोषक तत्व अनानास में पाया जाता है. यह एंटी इन्फ्लेमेटरी गुणों से युक्त होता है जो आप के इम्यून सिस्टम के लिए बहुत अच्छे व लाभदायक होते हैं. इसका प्रयोग कई बार कुछ चोटें जैसे कि रीढ़(स्पाइन) आदि को ठीक करने के लिए भी किया जाता है. आप इसकी टैबलेट या कैप्सूल ले सकते हैं.

कैप्सैसिन

ये तत्त्व लाल मिर्ची में पाया जाता है. इसका काम प्रोटीन के एक समूह को रोकना है जो आपके शरीर की सूजन की प्रतिक्रिया को नियंत्रित करता है. आप कैप्सैसिन को उन उत्पादों में पा सकते हैं जिन्हें आप सीधे अपनी त्वचा पर लगाते हैं. आप एक चौथाई चम्मच से कैप्सैसिन की शुरुआत कर सकते हैं.

कर्क्यूमिन

पुरानी चाइनीज़ हर्ब्स में से एक कर्क्यूमिन अपनी एंटी इन्फ्लेमेटरी व एंटी ऑक्सिडेंट गुणों के लिए जानी जाती है. अपने इन गुणों के साथ कर्क्यूमिन अधिकतर हल्दी में पाई जाती है. हल्दी में कर्क्यूमिन जैसा तत्व होने के कारण ही उसका रंग पीला होता है. कई अध्ययनों के मुताबिक, कर्क्यूमिन गठिया, सूजन आंत्र रोग और वसायुक्त यकृत रोग सहित कुछ अन्य समस्याओं से लड़ने में मदद कर सकती है.

विटामिन ई

एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर विटामिन ई आप के इम्यून सिस्टम के लिए लाभदायक रहती है और सूजन से आप को ठीक भी करती है. यह गठिया में भी सहायक होती है. विटामिन ई की मात्रा आपको खाने वाली चीजों में आसानी से मिल जाती है जैसे ऑलिव ऑयल, बादाम, मीट, डेयरी उत्पाद आदि.

लहसुन

लहसुन इन्फ्लेमेटरी एंजाइम को धीमा करने में सहायक होता है. यदि आप मांसपेशियों में होने वाली सूजन को ठीक करना चाहते हैं तो लहसुन की 2 से 3 कलियां रोज़ाना अपनी सब्जी में डालें. आप इसकी डोज़ के बारे में अपने डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं.

ओमेगा 3 फैटी एसिड

हमारे शरीर के अंदर यह एसिड्स व ओमेगा नहीं बनता है. इसलिए हमें इसके लिए सप्लीमेंट लेने की आवश्कता होती है जैसे कि मछली का तेल. इसके अलावा, अगर आप सैल्मन और टूना, केल, वनस्पति, अलसी के बीज, काली सब्जी, नट्स व अंडे आदि भी खाते हैं तो आपको ओमेगा 3 फैटी एसिड का भरपूर लाभ मिल सकता है.

अदरक

रिसर्च के मुताबिक, अदरक में भी ऐसे एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सूजन को ठीक करने में मदद करते हैं. अगर आप को एक्सरसाइज़ करने के बाद मसल पेन होता है तो आप को अदरक की सहायता लेनी चाहिए. इसके अलावा, आप अदरक के कैप्सूल का आप प्रयोग भी कर सकते हैं.

जिंक

आपके पूरे शरीर को इस सूक्ष्म पोषक तत्व की आवश्यकता होती है, जो सूजन को दूर करने में मदद कर सकता है. बता दें कि, आपके आहार जैसे कि चिकन, लाल मांस, और कुछ अनाज में पहले से ही जिंक की पर्याप्त मात्रा मौजूद होती है. लेकिन इसके बाद भी अगर आपको जिंक की आवश्यकता महसूस होती है तो कोई सा भी सप्लीमेंट लेने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लें क्योंकि किसी किसी दवा के साथ इसका सेवन नुकसान कर सकता है.

शनि की ढैय्या: मिथुन और तुला राशि वाले रहें सवाधान, शनि देव कर सकते हैं परेशान, जानें उपाय

Source link