33 C
Mumbai
Sunday, February 28, 2021
Home Sports IND vs ENG: केविन पीटरसन बोले- अगर इंग्लैंड ने ऐसा नहीं किया...

IND vs ENG: केविन पीटरसन बोले- अगर इंग्लैंड ने ऐसा नहीं किया तो ये भारतीय टीम का अपमान होगा

India vs England: भारत के खिलाफ टेस्ट के लिये इंग्लैंड टीम से जॉनी बेयरस्टो को बाहर करने की आलोचना करते हुए पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज़ केविन पीटरसन ने कहा कि अगर इंग्लैंड भारत के खिलाफ इस शानदार सीरीज में अपनी सर्वश्रेष्ठ प्लेइंग इलेवन नहीं उतारती है, तो यह मेजबान टीम के लिये अपमानजनक होगा.

गौरतलब है कि भारत के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले दो मुकाबलों के लिए सिर्फ जॉनी बेयरस्टो ही नहीं बल्कि ऑलराउंडर सैम कर्रन और तेज गेंदबाज मार्क वुड को भी टीम से बाहर रखा गया है. दरअसल, इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) ने खिलाड़ी प्रबंधन नीति के तहत बेयरस्टो को पहले दो टेस्ट के लिये आराम दिया है.

पीटरसन ने कहा कि भारत के खिलाफ जीत चिर प्रतिद्वंद्वी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत की तरह ही है और चयनकर्ताओं से स्टुअर्ट ब्रॉड और जेम्स एंडरसन को खिलाने का आग्रह किया.

पीटरसन ने ट्वीट कर कहा, “इंग्लैंड ने पहले टेस्ट में भारत से खेलने के लिये अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम चुनी है या नहीं, यह बड़ी बहस का मुद्दा है. भारत में जीत दर्ज करना उसी तरह का अहसास है, जैसे ऑस्ट्रेलिया में जीत हासिल करना. यह इंग्लैंड के प्रशंसकों के लिये अनादर होगा और साथ ही बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) के लिये भी, कि आप अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम नहीं खिलाओ. बेयरस्टो को खेलना चाहिए. साथ ही ब्रॉड और एंडरसन को खेलना चाहिए.”

पीटरसन ने एक दूसरे ट्वीट में कहा कि सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी फॉर्म में चल रही भारतीय टीम के खिलाफ खेलने का मौका चूकना नहीं चाहेंगे और उन्होंने सुझाव दिया कि इंडियन प्रीमियर लीग के बाद खिलाड़ियों को आराम दिया जा सकता है. उन्होंने कहा, इंग्लैंड के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी भारत के खिलाफ उसकी सरजमीं में जितने ज्यादा संभव हो, उतने मैच खेलना चाहेंगे. उन्हें चुनिये. फिर वे आईपीएल जायेंगे और वे जिसके हकदार हैं, वो कमाई करेंगे. हर खिलाड़ी के लिये धनराशि अहम है. यह व्यवसाय है, इसके बाद वे ब्रेक ले सकते हैं.

यह भी पढ़ें- 

PAK vs SA: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट के लिये पाकिस्तानी टीम का हुआ एलान, छह ‘अनकैप्ड’ खिलाड़ियों को मिली जगह



Source link

Most Popular

EnglishGujaratiHindiMarathiUrdu